Job vs Network Marketing in Hindi 2022

Job vs network marketing in hindi

 

Introduction – Job vs Network Marketing in Hindi

आज के इस लेख में हम बात करने वाले हैं JOB vs NETWORK MARKETING in Hindi के बारे में और इसे आप जॉब vs एम एल एम भी कह सकते हैं। हम तुलना करने वाले हैं नेटवर्क मार्केटिंग इन इंडिया और नौकरी(JOB) को और पता करने वाले हैं क्या अंतर है जॉब करने में और नेटवर्क मार्केटिंग करने में। इस लेख में आपको why नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में भी पता चलेगा और जॉब के बारे में भी पता चलेगा उसके बाद पूरी तरह से निर्णय आपका है कि आप किस और अपना ध्यान ज्यादा केंद्रित करना चाहते है, ज्यादा मेहनत करना चाहते हैं जिससे आपको बेहतर परिणाम मिल सके।

तो चलिए इन दो विकल्पों के बीच तुलना करते हैं।

Income / आय

(Job vs Network Marketing in hindi)

JOB नौकरी में आपको एक तय वेतन मिलता है और कुछ अगर आप अच्छा करते हैं तो प्रोत्साहन(Incentive) के रूप में कुछ रुपए अधिक मिलते हैं, जबकि नेटवर्क मार्केटिंग में कोई निश्चित वेतन नहीं होता है, लेकिन यहां आपको मिलता है फायदा(Profit) आपका जितना अधिक कारोबार होता है उसके हिसाब से आपको कुछ ना कुछ प्रतिशत(percent) के रूप में मुनाफा मिलता है। और जैसे-जैसे नेटवर्क मार्केटिंग में आपका समूह (Team) बढ़ता जाता है, आपका कारोबार बढ़ता जाता है जिससे कि आप को मुनाफे में तेजी से वृद्धि होती है। वही जॉब में आपका वेतन समान रूप से रहता है जो आपको हर महीने मिलता रहता है।

Security / सुरक्षा (Job vs Network Marketing in hindi)

जॉब के अंदर आपको सुरक्षा(Security) मिल सकती है आपकी आय सुरक्षित रहती है क्योंकि इसमें हर महीने आपकी आय (Income) चालू रहती है आप फिर चाहे आप कितना ही काम करें आपको महीने के आखिरी में तनख्वाह(Salary) के रूप में पैसा जरूर मिलेगा, लेकिन ऐसा अधिकतर सिर्फ गवर्नमेंट जॉब में ही देखने को मिलता है। प्राइवेट जॉब को तो हम सिक्योरिटी के दृष्टिकोण से नहीं देख सकते।
वही नेटवर्क मार्केटिंग में आपको किसी तरह की कोई सुरक्षा नहीं मिलती है यहां जितना काम होता है उतना पैसा मिलता है काम नहीं तो पैसा नहीं, लेकिन अगर आपने एक सिस्टम बना लिया तो नेटवर्क मार्केटिंग में आप का विकास होने से कोई नहीं रोक सकता, आपको आजादी(Freedom) मिल जाती है रोज काम करने से।

Fixed Timings / निश्चित समय (Job vs Network Marketing in hindi)

जॉब के अंदर आपकी फिक्स टाइमिंग होती है। आपकी 9 से 5 की जॉब हो या 10 से 8 की जॉब हो, आपको अपनी फिक्स टाइम पर जाना ही जाना है। वही नेटवर्क मार्केटिंग में कोई फिक्स टाइमिंग नहीं होती है काम आपको अपने हिसाब से करना होता है फिर चाहे आप 9:00 से 6:00 बजे तक करें या 24 में से 12 घंटे काम करें आपकी पसंद है आप चाहे तो करें या चाहे तो ना भी करें। लेकिन आपने एक बार लगकर काम कर लिया तो सिस्टम ऐसा बन जाता है कि बाद में आप काम करें या ना करें आपकी आवक(Income) चालू रहती है।

Social Status / सामाजिक छवि (Job vs Network Marketing in hindi)

अगर आपके पास एक अच्छी गवर्नमेंट जॉब है तो समाज में आपकी एक अच्छी छवि अपने आप ही बन जाती है, लोग आपसे मिलना पसंद करते हैं आप के संपर्क में रहना पसंद करते हैं,
वहीं इसके विपरीत नेटवर्क मार्केटिंग में जैसे-जैसे आप आगे बढ़ने लगते हैं वैसे वैसे लोग आपके विपरीत होने लगते हैं अगर आप नेटवर्क मार्केटिंग में हैं तो यह मान कर चलिए कि आप की छवि को क्षति जरूर पहुंचने वाली है। क्योंकि लोग अच्छा महसूस नहीं करते अगर आप नेटवर्क मार्केटिंग में है, लेकिन यह सिर्फ तब तक है जब तक आप एक अच्छे मुकाम तक नहीं पहुंच जाते हैं।

Retirement / सेवा निवृत्ति

अगर आप किसी सरकारी जॉब के अंदर है तो जॉब के अंदर आपको मिलती है सेवा निवृत्ति(Retirement) उसके बाद पेंशन वह भी लगभग जब आप की उम्र 50 से 60 साल की हो जाती है उसके बाद पेंशन के नाम पर आपकी सैलरी का कुछ परसेंट आपको मिलने लगता है।
इसके विपरीत नेटवर्क मार्केटिंग में कोई पेंशन प्लान तो नहीं होता हे, लेकिन यहां एक बार आपका नेटवर्क बन जाता है तो आप जल्दी सेवानिवृत्त हो सकते हैं वह भी केवल मात्र 3 से 5 साल देने के बाद। उसी के साथ सेवानिवृत्त होने के बाद जो आपकी आय होने लगती हैं वह केवल आप तक सीमित नहीं होती वह आए आपकी अगली पीढ़ी को विरासत के रूप में भी मिलती है।

Personal Development / व्यक्तिगत विकास

अगर आप किसी जॉब के अंदर हैं तो मान कर चलिए आपका व्यक्तिगत विकास हमेशा सीमित ही रहेगा क्योंकि आप उतना ही काम करते हैं जितना आपकी जॉब में जरूरत होती है, आप की सिखलाई उसी पर निर्भर करती है जिस तरीके का आपका काम होता है।
वहीं नेटवर्क मार्केटिंग में बिना व्यक्तिगत विकास के सफलता संभव नहीं है जैसे जैसे व्यक्ति आगे बढ़ने लगता है वैसे वैसे अलग-अलग तरह की सिखलाई उसके लिए आवश्यक बनती जाती है।

अब अगर आपने अपने लिए जो भी चुना हो में एक बार आपको सावधान कर दूं, network marketing में जायदातर लोग इसलिए सफल नहीं हो पाते हे क्योंकि उन्हें वो जानकारी नहीं मिल पाती हे जो उन्हें इस इन्डस्ट्री में कामयाब करवा सके। वो जानकारी बहोत काम लोगों के पास होती हे इसलिए बहुत काम लोग ही इस इन्डस्ट्री में कामयाब हो पाते हे ।
हमारी राय हमेशा लोगों के लिए यही होती हे के वो network marketing जरूर करे लेकिन शुरूवात में इसे पार्टटाइम(Part Time) शुरू करे अपनी जॉब के साथ, और धीरे धीरे सीखते हुए खुद को इस इन्डस्ट्री में सफल होने लायक बनाए, हमारा वादा हे तब आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता ।

Also Read:

Share Now

18 thoughts on “Job vs Network Marketing in Hindi 2022”

Leave a Comment